News

PM Modi and UP chief minister Yogi Adityanath has releases postage stamp to mark beginning of centenary celebrations of Chauri Chaura incident

On the occasion of centenary celebration of the Chauri Chaura incident the UP chief minister released the logo for every occasion and appealed to the centre to release a postal stamp to mark the historic event as  a landmark of India’s freedom movement.On 4th Feb 2021 PM Modi released a postage stamp to mark the beginning of centenary celebrations of the Chauri Chaura incident via video conferencing.  PM Modi said that “Incident of Chauri Chaura is not limited to setting the police station on fire. The message is huge.”...

Read More

Three Arrested in Gorakhpur for UPPSC Staff Nurse Exam Fraud in Gorakhpur. | गोरखपुर में यूपीपीएससी स्टाफ नर्स परीक्षा में धोखाधड़ी के आरोप में गोरखपुर में तीन गिरफ्तार

  उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ग्रेड -2 स्टाफ नर्स भर्ती परीक्षा के उम्मीदवारों के लिए ओएमआर शीट भरने के आरोप में गोरखपुर में विश्व भारती इंटर कॉलेज, जो यूपीपीएससी परीक्षा का केंद्र था, के तीन परीक्षार्थियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।  कॉलेज प्रशासन से सूचना मिलने के बाद स्थानीय पुलिस पहुंची...

Read More

Govt job for wife, Rs 10 lakh aid: UP CM meets kin of businessman who died during police raid in Gorakhpur | पत्नी को सरकारी नौकरी, 10 लाख रुपये की सहायता: गोरखपुर में पुलिस छापेमारी के दौरान मारे गए व्यवसायी के परिजनों से मिले यूपी के सीएम

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार रात गोरखपुर में पुलिस छापेमारी के दौरान रहस्यमय तरीके से मारे गए कानपुर के व्यापारी के परिवार के सदस्यों से मुलाकात की।सीएम ने व्यवसायी की पत्नी को आश्वासन दिया कि उसे सरकारी नौकरी दी जाएगी और जिला प्रशासन से परिवार को 10 लाख रुपये से अधिक का मुआवजा देने...

Read More

Chauri Chaura: The Riot and Independence Movementचौरी चौरा: विद्रोह और स्वाधीनता आंदोलन

Subhash Chandra Kushwaha's monograph Chauri Chaura is a record of a little yet significantly important in current Indian history—the Chauri Chaura revolt. The episode occurred at Chauri Chaura, a small town in Uttar Pradesh (North India), on February 4, 1922 when a few workers consumed a police headquarters killing 23 cops. The occasion has an especially curious status in Indian history since it was recognized as a 'criminal' act by the British colonial government as well as lso by mainstream anti-colonial nationalist leaders. The book is a definite record of the occasions that prompted the riot and its result. Kushwaha attempts to recover the original story and facts through government judicial records and responses of national leadership. To recover the original workers' side of the story,...

Read More

Six police personnel charged with murder of Kanpur businessman in Uttar Pradesh’s Gorakhpur | उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में छह पुलिसकर्मियों पर कानपुर के व्यापारी की हत्या का आरोप

गोरखपुर में कानपुर के कारोबारी की मौत के मामले में छह पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार रात पीड़िता की पत्नी मीनाक्षी गुप्ता से बात की और अपनी संवेदना व्यक्त की, जबकि राज्य सरकार ने परिवार को वित्तीय सहायता...

Read More
  • ← Previous
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5
  • Next →
  •   Show: